Cancel Preloader

केजरीवाल सरकार द्वारा शुरू किया गया कार्यक्रम बिज़नेस ब्लास्टर्स दिल्ली के सरकारी स्कूलों में भविष्य के जॉब प्रोवाइडर्स तैयार कर रहा है

 केजरीवाल सरकार द्वारा शुरू किया गया कार्यक्रम बिज़नेस ब्लास्टर्स दिल्ली के सरकारी स्कूलों में भविष्य के जॉब प्रोवाइडर्स तैयार कर रहा है
केजरीवाल सरकार द्वारा शुरू किया गया कार्यक्रम बिज़नेस ब्लास्टर्स दिल्ली के सरकारी स्कूलों में भविष्य के जॉब प्रोवाइडर्स तैयार कर रहा है। इस कार्यक्रम की पूरे भारत में चर्चा हो रही है। साथ ही बहुत से निवेशक दिल्ली के सरकारी स्कूलों के बिज़नेस स्टार्स के स्टार्टअप में निवेश कर रहे है। जिससे कार्यक्रम को शानदार सफलता भी मिल रही है। इसी कड़ी में शुक्रवार को टीवी पर बिजनेस ब्लास्टर्स का छठा एपिसोड प्रसारित किया गया। जहां दिल्ली के सरकारी स्कूलों के बिज़नेस स्टार्स ने प्रसिद्ध निवेशकों के सामने अपने बिज़नेस आईडिया प्रस्तुत किए। एपिसोड में एपीजे सुरेंद्र पार्क होटल्स की चेयरपर्सन प्रिया पाल और हीरो मोटोकॉर्प के चीफ प्रोक्योरमेंट एंड सप्लाई चेन ऑफिसर राम कुप्पुस्वामी जैसे प्रसिद्ध उद्यमियों ने जज की भूमिका निभाते हुए इन युवा एंत्रप्रेन्योर्स के स्टार्टअप को समझा और उसमे निवेश किया। उपमुख्यमंत्री व शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया भी बतौर जज की भूमिका में इस कार्यक्रम में शामिल रहे।
फैशन और टेक्नोलॉजी को स्टाइल से फ्यूजन करवाती टीम ‘रूल्स ब्रेकर
शो में पहली टीम को ‘रूल्स ब्रेकर’ ने टेक्नोलॉजी का फैशन के साथ फ्यूज़न कर ‘ब्लूटूथ रिंग’ तैयार किया है। यह उपभोक्ता को फैशन एक्सेसरी के रूप में अंगूठी पहनने के साथ-साथ उससे कॉल अटेंड करने, म्यूजिक सुनने जैसी सुविधाएं देता है। इस आइडिया को दिल्ली सरकार की और से मिले 14 हजार रूपये की सीडमनी के साथ डेवलप किया है। दिल्ली सरकार के स्कूलों में पढ़ने वाले स्टूडेंट्स फैसल, चंदन, कमलेश और रोहित ने इसे बनाया है। यह बचपन के दोस्त भी हैं। टीम लीडर फैसल अपनी टीम के साथ डोर टू डोर मार्केटिंग और सोशल मीडिया के जरिए अपने बिजनेस आइडिया को आगे बढ़ा रहे हैं। अपने स्टार्ट-अप के बारे में बात करते हुए कमलेश ने कहा कि हमें लोगों से जो प्रतिक्रिया मिली वह उत्साहजनक थी। सेना के एक अधिकारी ने हमारे प्रोडक्ट की सराहना की और कहा कि हमें उनके लिए ऐसी चीजें बनानी चाहिए। क्योंकि इससे अधिकारियों को ड्यूटी पर आसानी से कॉल अटेंड करने में मदद मिल सकती है। एक जिम ट्रेनर ने भी प्रोडक्ट की सराहना करते हुए कहा कि एक्सरसाइज के दौरान किसी फ़ोन को अटेंड करने के लिए ये काफी उपयोगी प्रोडक्ट है क्योंकि लोग एक्सरसाइज करने के दौरान बार-बार अपने बैग से फ़ोन नहीं निकाल सकते। इस टीम के आईडिया से प्रभावित होकर दोनों निवेशकों ने इनके स्टार्ट-अप में 50 हजार रुपये का इनवेस्टमेंट किया। साथ ही निवेशकों ने टीम को अपने प्रोडक्ट को बेहतर बनाने के लिए मार्केटिंग और टेक्निकल स्पेशलाइजेशन में गाइडेंस देने की बात भी की। इस मौके पर कमलेश ने कहा कि बिजनेस ब्लास्टर्स के साथ मैं इस बिजनेस आइडिया को बनाने की दिशा में काम करने को लेकर काफी उत्साहित हूं। मेरे माता-पिता मेरा पूरा समर्थन करते हैं और मुझे जिम्मेदारी लेते हुए देखकर गर्व महसूस करते हैं। यह जानकर बहुत अच्छा लगा कि हमारा ये स्टार्ट-अप भविष्य में लोगों को नौकरियां दे सकता है।”
सोलर पावर से चलने वाला नॉन-कन्वेंशनल पॉवर बैंक
शो की दूसरी टीम ‘नेक्स्ट इनोवेशन’ ने सोलर एनर्जी से चार्ज होने वाले अपने पॉवर बैंक के आईडिया को निवेशकों के सामने पेश किया। टीम अपने इम्पैक्टफुल प्राइसिंग के साथ 17 पॉवर-बैंक बेच चुकी है। अपने आईडिया के बारे में बताते हुए टीम लीडर सुजान ने कहा कि हम ग्रामीण क्षेत्रों में काम करने वाले डिलीवरी बॉय और अन्य लोगों तक इस आईडिया को पहुंचाना चाहते हैं, जहां बिजली की कमी है। साथ ही हम इस तकनीक को अपग्रेड करना चाहते हैं ताकि इसे लैपटॉप के लिए भी प्रयोग में लाया जा सके। हमारे प्रोडक्ट को पहले से ही वर्ड ऑफ माउथ मार्केटिंग और सोशल मीडिया से शानदार प्रतिक्रिया मिल रही है।
टीम को अपने इस शानदार स्टार्ट-अप आईडिया के लिए निवेशकों से 45 हजार रुपये का इनवेस्टमेंट मिला है। इस मौके पर टीम लीडर सुजान ने कहा कि हमारे पेरेंट्स को वास्तव में इस बात पर गर्व है कि हम इस तरह के प्रतिस्पर्धी बाजार में एक व्यवसाय चला रहे हैं। बिजनेस ब्लास्टर्स के साथ हमने एक शुरुआत की है और हम आने वाले समय में इसे और बड़ा करने की उम्मीद करते हैं।
इको-फ्रेंडली हैण्ड-मेड लैंप से घर को रौशन करती टीम क्राफ्ट-हाउस
बचपन में दुर्गा पूजा के दौरान बेचे जाने वाले सजावटी सामानों से प्रेरित होकर ‘द क्राफ्ट हाउस’ के टीम लीडक हेमंत ने इसे सभी के लिए सुलभ बनाने के लिए कऑस्ट-इफेक्टिव सजावटी लैंप बनाने का फैसला किया। इन लैंपों की खासियत यह है कि ये इको-फ्रेंडली होते हैं और लकड़ी, बांस, ऊन तथा जूट से बने होते हैं। शो में निवेशकों के सामने अपने आईडिया को प्रस्तुत करते हुए हेमंत, विशाल, देवाशीष और राकेश ने कहा कि हम पहले ही 50 लैंप बेच चुके हैं और हमारे पास बहुत से एडवांस ऑर्डर भी हैं। जिससे हमारा बिज़नेस गति पकड़ रहा है। मुझे इस स्टार्ट-अप को आगे बढ़ाने की योजना तैयार करते हुए बेहद खुशी हो रही है, क्योंकि हमारी टीम डोर टू डोर मार्केटिंग के साथ और अधिक ग्राहकों तक पहुंचने के लिए कड़ी मेहनत कर रही है। साथ ही अपने प्रोडक्ट की मार्केटिंग के लिए एग्जिबिशन में भी भाग ले रहे हैं। टीम को अपने स्टार्ट-अप के लिए निवेशकों से 70 हजार रुपये का निवेश प्राप्त हुआ है। साथ ही निवेशकों की और से मार्केटिंग को लेकर गाइडेंस की पेशकश भी की है।
उल्लेखनीय है कि बिजनेस ब्लास्टर्स भारत में अपनी तरह का पहला टेलीविजन कार्यक्रम है जो दिल्ली के सरकारी स्कूलों के 11वीं और 12वीं के छात्रों को इन्वेस्टर्स के सामने अपने प्रोजेक्ट्स को प्रस्तुत करने और उन्हें अगले स्तर पर ले जाने के लिए निवेश प्राप्त करने का अवसर देता है। शो में 3 लाख स्टूडेंट्स के 51 लाख से अधिक बिज़नेस आइडियाज में से चुने गए बेहतरीन बिज़नेस आइडियाज को दिखाया जाएगा। हर रविवार शाम 7 बजे दिल्ली के सरकारी स्कूलों के इन बिज़नेस स्टार्स को इन्वेस्टर्स के मुश्किल सवालों का सामना करते और उन्हें अपने बिज़नेस को बढ़ाने के लिए इनवेस्टमेंट प्राप्त करते देख सकते हैं।
बिजनेस ब्लास्टर्स 11वीं-12वीं कक्षा के लिए एंत्रप्रेन्योरशिप माइंडसेट करिकुलम का एक प्रैक्टिकल कॉम्पोनेन्ट है। इससे दिल्ली के सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले स्टूडेंट्स में टीम वर्क, लीडरशिप, ब्रेन-स्टोर्मिंग, क्रिटिकल-थिंकिंग स्किल्स विकसित करने में मदद मिलती है। इसके साथ-साथ सामाजिक चुनौतियों व व्यावसायिक अवसरों की पहचान करने, व्यावसायिक योजनाएं तैयार करने और अपने आस पास उन विचारों को लागू करने का अनुभव प्रदान करने के लिए डिज़ाइन किया गया है। इस प्रोग्राम के तहत सभी भाग लेने वाले स्टूडेंट्स को दो-दो हजार रुपये की सीडमनी दी जाती है। छात्र, इंडिविजुअल या टीम में इस सीड मनी का उपयोग, खुद का एंटरप्राइज शुरू कर प्रॉफिट कमाने या सोशल इम्पैक्ट पैदा करने के लिए करते है।
इन एंत्रप्रेन्योर्स का मेंटर बनने के लिए www.thebusinessblasters.in . पर रजिस्टर करे

Related post